[INSERT_ELEMENTOR id="7377"]

PV Sindhu Birthday: 56 किमी तय करके पहुंचती थीं ट्रेनिंग पर, 21 वर्ष की उम्र में जीता ओलंपिक मेडल

PV Sindhu Birthday: पी.वी. सिंधु  25 साल की हो गई हैं. उनका जन्म 5 जुलाई, 1995 हैदराबाद में हुआ. पी.वी. सिंधु का पूरा नाम पुसर्ला वेंकट सिंधु है. 

Written By The Wolf Newz Editorial | Updated: July 5, 2020 12:05 AM IST

PV Sindhu Birthday is in 5 july
PV Sindhu Birthday: पी.वी. सिंधु

PV Sindhu Birthday: पी.वी. सिंधु  25 साल की हो गई हैं. उनका जन्म 5 जुलाई, 1995 हैदराबाद में हुआ. पी.वी. सिंधु का पूरा नाम पुसर्ला वेंकट सिंधू (Pusarla Venkata Sindhu) है. सिंधु के पिता पी.वी. रमण और मम्मी पी. विजया (PV Sindhu Family) नेशनल लेवल के वॉलीबॉल खिलाड़ी रह चुके हैं. उनके पिता उस भारतीय वॉलीबॉल टीम का हिस्सा थे जिसने सियोल एशियन गेम्स 1986 में कांस्य पदक जीता था. इस तरह पी.वी. सिंधु को बचपन से ही घर में खेल का माहौल मिला और उनकी दिलचस्पी खेलों में खूब रही. बताया जाता है कि सिंधु अपने घर से 56 किलोमीटर का सफर तय करके अपने कोचिंग इंस्टीट्यूट पहुंचती थीं, और कभी लेट नहीं हुईं. सिंधु एकमात्र भारतीय महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने ओलंपिक गेम्स में सिल्वर मेडल जीता है. पी.वी. सिंधु के जन्मदिन पर आइए जानते हैं उनसे जुड़ी कुछ खास बातें…

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

A post shared by sindhu pv (@pvsindhu1) on

सिंधु के पिता वॉलीबॉल के खेल में उत्कृष्ट प्रदर्शन की वजह से अर्जुन पुरस्कार विजेता रहे हैं.

पुलेला गोपीचंद ने 2001 में ऑल इंग्लैंड ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप जीती तो उसी दिन से वह सिंधु की इंस्पिरेशन बने और उन्होंने वॉलीबॉल को न चुनकर बैडमिंटन को चुना.

 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

Life is a beach 🏝 Enjoy the waves 🌊 #beach#waves#latepost#sandeverywhere🙈#fun#saltywater#enjoyinglife#💋

A post shared by sindhu pv (@pvsindhu1) on

सिंधु ने आठ साल की उम्र में ही बैडमिंटन को हाथ में थाम लिया था, और उनका जुनून समय के साथ बढ़ता ही गया और फिर वह पुलेला गोपीचंद की स्टुडेंट बनीं.

पी.वी. सिंधु को 2015 में पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया था. यह उन्हें बैडमिंटन के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए मिला था.

पी.वी. सिंधु ने 2016 मे रियो डि जेनेरियो में बैडमिंटन चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीता था, और वह यह उपलब्धि हासिल करने वाली पहली महिला खिलाड़ी थीं.

सिंधु ने 2019 में विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल भी जीता था.

[INSERT_ELEMENTOR id="7318"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7342"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7072"]