[INSERT_ELEMENTOR id="7377"]

Coronavirus Medicine: भारत में आई कोरोना वायरस की दवा, कीमत 103 रुपये प्रति टैबलेट होगी

जहां दुनिया भर में कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए वैक्‍सीन और दवा खोजी जा रही है. वहीं भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है.

Written By The Wolf Newz Editorial | Updated: June 21, 2020 14:07 PM IST

glenmark launches new coronavirus medicine in india approved by dgci
Coronavirus Medicine

Coronavirus Medicine: जहां दुनिया भर में कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए वैक्‍सीन और दवा खोजी जा रही है. वहीं भारत ने बड़ी उपलब्धि हासिल की है. मुंबई स्थित कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कोविड-19 से पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिरविर लॉन्च की है. और साथ ही भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीजीसीआइ) से इस दवा के निर्माण की अनुमति मिल गई है. कंपनी का कहना है कि फैबिफ्लू कोविड-19 के इलाज के लिए पहली खाने वाली फेविपिरविर दवा है जो 103 रुपये प्रति टैबलेट की दर से बाजार में मिलेगी.

फैबिफ्लू कोविड-19 के उपचार के लिए भारत में पहली खाने वाली दवा है. पहले दिन में 1,800 मिलीग्राम दो बार और उसके बाद रोजाना 14 दिनों तक 800 मिलीग्राम दो बार ले सकते है. टैबलेट का उत्पादन कंपनी द्वारा हिमाचल प्रदेश के बद्दी में किया जा रहा है. ग्लेनमार्क का कहना है कि ये दवा अस्पतालों और दुकानों दोनों में उपलब्ध होगी. कोरोना के इलाज के दौरान इससे पहले रेमडेसिविर और दूसरी दवाइयों का इस्तेमाल किया गया. लेकिन फैबिफ्लू पहली ऐसी दवा है जिसे खाया जा सकेगा.

बता दे कि भारत में कोरोना संक्रमितों का कुल आंकड़ा 4 लाख के पार पहुंच गया है. स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) की ओर से रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोरोनावायरस मरीज़ों की कुल संख्या 4,10,461 हो गई है और जबकि इस वायरस से अब तक 13254 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, पिछले 24 घंटों में कोरोना के सबसे ज्यादा 15413 नए मामले सामने आए हैं और 306 लोगों की जान गई है. हालांकि, राहत की बात यह है कि 2,27,756 मरीज़ कोरोना को मात देने में कामयाब हुए हैं. रिकवरी रेट 55.48 प्रतिशत पर पहुंच गया है.

[INSERT_ELEMENTOR id="7318"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7342"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7072"]