[INSERT_ELEMENTOR id="7377"]

देश में COVID 19 का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है. दिन में रिकॉर्ड 27,114 मामले सामने आए हैं. अब DCGI ने Itolizumab के प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी है.

Written By WolfNewz Editorial | Updated: July 11, 2020 16:50 PM IST

COVID 19 Medicine Itolizumab
कोरोना वायरस का इस दवा से होगा इलाज

देश में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है. दिन में रिकॉर्ड 27,114 मामले सामने आए हैं. इसी के साथ शनिवार को देश में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 8,20,916 हो गए. पिछले 24 घंटे में 519 लोगों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 22,123 हो गई है. मोनोक्लोनल एंटीबॉडी इटोलिज़ुमाब (आरडीएनए मूल) जिसे पहले से ही गंभीर पुरानी प्लेक सोरायसिस में उपयोग के लिए मंजूरी मिली हुई है. अब ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने क्लिनिकल ट्रायल डेटा के आधार पर इस Itolizumab के प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी है. मेसर्स बायोकॉन 2013 से अल्ज़ुमाब ब्रांड नाम से मध्यम से गंभीर पुरानी प्लेक सोरायसिस के रोगियों के उपचार के लिए इस दवा का निर्माण और विपणन कर रही है. इस स्वदेशी दवा को अब COVID 19 के लिए पुनर्निर्मित किया गया है।

मेसर्स बायोकॉन ने Coronavirus के रोगियों में उत्पन्न द्वितीय चरण नैदानिक ​​परीक्षण के परिणाम DCGI के समक्ष प्रस्तुत किए हैं. इन परीक्षणों के परिणामों पर डीसीजीआई के कार्यालय की विषय विशेषज्ञ समिति में विवेचन किया गया. मृत्यु दर के प्राथमिक समापन बिंदु, पीएओ2 और ऑक्सीजन संतृप्ति में सुधार जैसे फेफड़ों के कार्य के अन्य प्रमुख समापन बिंदु के विवरण प्रस्तुत किए गए. प्रमुख सूजन संबंधी चिन्ह आईएल-6, टीएनएफअल्फा आदि को भी पेश किया गया.

विस्तृत विचार-विमर्श के बाद और समिति की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए डीसीजीआई ने COVID 19 की वजह से मध्यम से गंभीर तीव्र श्वसन पीड़ा लक्षण (एआरडीएस) वाले रोगियों में साइटोकिन रिलीज सिंड्रोम (सीआरएस) के उपचार के लिए कुछ शर्तों जैसे रोगियों की सूचित सहमति, एक जोखिम प्रबंधन योजना, केवल अस्पताल में उपयोग किया जाना आदि, के अधीन दवा के प्रतिबंधित आपातकालीन उपयोग के तहत दवा का विपणन करने की अनुमति देने का फैसला किया है. इस स्वदेशी दवा यानी इटोलिज़ुमाब के साथ उपचार की औसत लागत उन तुलनीय दवाओं की तुलना में कम है जो स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के कोविड-19 के लिए क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल में संकेतित ‘जांच चिकित्सा’ का हिस्सा हैं.

[INSERT_ELEMENTOR id="7318"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7342"]
[INSERT_ELEMENTOR id="7072"]